पुण्यभूमि भारत : मानचित्र परिचय

  • Rs.60.00

 पुण्यभूमि भारत 

प्रत्येक भारतीय को यह देश प्राणों से प्यारा है | क्योंकि इसका कण-कण पवित्र है, तभी तो प्रत्येक सच्चा भारतीय (हिन्दू) गाता है-"कण-कण में सोया शहीद,पत्थर-पत्थर इतिहास है" | इस भूमि पर पग-पग में उत्सर्ग और शौर्य का इतिहास अंकित है | श्री गुरूजी गोलवलकर उसकी साक्षात् जगज्जननी के रूप में उपासना करते थे | स्वामी विवेकानन्द ने श्रीपाद शिला पर इसका जगन्माता के रूप में साक्षात्कार किया | वह भारत माता हमारी आराध्या है | उसके स्वरुप का वर्णन वाणी व लेखनी व्दारा असंभव है, फिर भी माता के पुत्र के नाते उसके भव्य-दिव्य स्वरुप का अधिकाधिक ज्ञान हमें प्राप्त करना चाहिए | कैलास से कन्याकुमारी, अटक से कटक तक विस्तृत इस महान भारत के प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों व् धार्मिक स्थानों का वर्णन यहाँ दिया जा रहा है |

Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good
Captcha

Tags: Punyabhumi Bharat Manchitra Parichay