Picture of कृतिरूप संघ-दर्शन

कृतिरूप संघ-दर्शन

Manufacturer: Suruchi Prakashan
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने राष्ट्रीय जीवन के पुनर्जागरण और पुनर्गठन के बारे में जो सपना सँजोया है, वह व्यवहाररूप में कहॉं तक साकार हुआ है, वह प्रस्तुत करने का यह पुस्तक एक प्रयास है| किसी संगठन की वैचारिक प्रतिबद्धता की वास्तविक कसौटी यह है कि वह किस सीमा तक अपने कार्यकर्ताओं को प्रेरणा दे सकता है कि वे संगठन के विचारों और मूल्यों को आत्मसात् कर सकें और जन-जीवन में भी वैसा ही उच्च कायाकल्प कर सकें| प्रस्तुत संकलन के दर्पण में समाज पर पड़े संघ के समग्र प्रभाव के केवल एक अंश को ही दर्शाया है| चाहे निजी स्तर पर या सामूहिक, स्वयंसेवकों की नानाविध गतिविधियों ने राष्ट्र के मानस पर एक निर्णायक प्रभाव डाला है| उसका विवेचन इस पुस्तक में है|
Availability: 5 in stock
₹ 200.00

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने राष्ट्रीय जीवन के पुनर्जागरण और पुनर्गठन के बारे में जो सपना सँजोया है, वह व्यवहाररूप में कहॉं तक साकार हुआ है, वह प्रस्तुत करने का यह पुस्तक एक प्रयास है|

किसी संगठन की वैचारिक प्रतिबद्धता की वास्तविक कसौटी यह है कि वह किस सीमा तक अपने कार्यकर्ताओं को प्रेरणा दे सकता है कि वे संगठन के विचारों और मूल्यों को आत्मसात् कर सकें और जन-जीवन में भी वैसा ही उच्च कायाकल्प कर सकें|

प्रस्तुत संकलन के दर्पण में समाज पर पड़े संघ के समग्र प्रभाव के केवल एक अंश को ही दर्शाया है| चाहे निजी स्तर पर या सामूहिक, स्वयंसेवकों की नानाविध गतिविधियों ने राष्ट्र के मानस पर एक निर्णायक प्रभाव डाला है| उसका विवेचन इस पुस्तक में है|

Customers who bought this item also bought

Recently viewed products

कृतिरूप संघ-दर्शन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने राष...

Leave a Message. X

: *
: *
: *
:
Call us: +91-1145633345